जिला अस्पताल में सफाई व्यवस्था देख कलेक्टर ने जताई नाराजगी,कहा ऐसा नहीं चलेगा

जिला अस्पताल में सफाई व्यवस्था देख कलेक्टर ने जताई नाराजगी,कहा ऐसा नहीं चलेगा..

अस्पताल को स्वच्छ रखने और जरूरी सुविधाएं मुहैया कराने के दिए निर्देश

जांजगीर चांपा । कलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा ने पदभार ग्रहण करने के साथ ही अति आवश्यक सेवाओं से संबंधित कार्यालयों का आकस्मिक निरीक्षण शुरू कर दिया है। आज शाम वे जिला अस्पताल पहुँचे तो उन्होंने यहाँ की सफाई व्यवस्था पर गहरी नाराजगी जताई। कलेक्टर ने उपस्थित सिविल सर्जन को निर्देशित किया कि इस तरह की अव्यवस्था नहीं चलेगी। यह अस्पताल है और जिले भर से गरीब मरीज यहाँ अपना उपचार कराने आते हैं, उन्हें अनिवार्य रूप से शासन की योजनाओं का लाभ मिलने के साथ जरूरी सुविधाएं अवश्य मिलनी चाहिए। यह शासकीय अस्पताल किसी भी निजी अस्पताल की तुलना में सफाई के मामलों में कम न हो।
कलेक्टर सिन्हा ने आज जिला अस्पताल के विभिन्न वार्डों और लैब का निरीक्षण किया। उन्होंने अस्पताल के शौचालय में साफ-सफाई व्यवस्था को लेकर नाराजगी व्यक्त की। कलेक्टर ने कहा कि यहाँ आने वाले किसी भी मरीज को किसी तरह की कोई परेशानी न हो, यह अस्पताल प्रबंधन सुनिश्चित करे। जो सुविधाएं वर्तमान में उपलब्ध है वह तो मिलना ही चाहिए और जो यहाँ की आवश्यकता है वह भी मिले इस दिशा में अस्पताल प्रबंधन मुझे बताए,मैं शीघ्र ही उच्च स्तर पर चर्चा कर सुविधाएं उपलब्ध कराने की कोशिश करूंगा। कलेक्टर ने विशेषज्ञ चिकित्सकों की भर्ती हेतु विज्ञापन जारी करने और टीम भावना से कार्य करने के निर्देश दिए। उन्होंने यहाँ लैब टेस्ट समय पर सुनिश्चित करने और यहाँ जाँच के लिए आने वाले मरीजों को किसी निजी अस्पताल या लैब में नहीं भेजने के भी निर्देश दिए। उन्होंने यहाँ सभी स्टाफ को अस्पताल की सुविधाओं को बेहतर बनाने और सिविल सर्जन को यहाँ कामकाज में कसावट लाने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने सीएमएचओ को निर्देशित किया कि जिले के सभी स्वास्थ्य केंद्र किसी भी निजी स्वास्थ्य केंद्र से बेहतर हो और समय पर सबकी उपस्थिति भी सुनिश्चित हो। उन्होंने जिले में संचालित पोषण पुनर्वास केंद्र की भी जानकारी ली और बच्चों को सुपोषित बनाने के लिए दिए जाने वाले पूरक आहार और अन्य सुविधाओं से कोई समझौता नहीं करने के निर्देश दिए। कलेक्टर सिन्हा ने आने वाले दिनों में अस्पताल का आकस्मिक निरीक्षण करने और अव्यवस्था पाए जाने पर कड़ी कार्यवाही की बात कही। कलेक्टर ने जिले में निर्माणाधीन स्वास्थ्य केंद्रों की प्रगति की भी समीक्षा की। इस दौरान सीएमएचओ डॉ आर पी सिंह, डिप्टी कलेक्टर आर पी आँचला, सिविल सर्जन डॉ अनिल जगत और अस्पताल के चिकित्सक,डीपीएम आदि उपस्थित थे।

लिस्ट के हिसाब से सभी जेनेरिक दवाइयां रखे
कलेक्टर ने जांजगीर में कचहरी चौक के पास संचालित धन्वंतरि मेडिकल दुकान का भी आकस्मिक निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने दवाइयों को निकाल कर मूल्य की जाँच की और ग्राहकों को निर्धारित छूट के अनुसार दवा बेचने के निर्देश देते हुए सूची के अनुरूप दवाइयां स्टॉक में रखने के निर्देश दिया।

Leave a Comment

Advertisement
What does "money" mean to you?
  • Add your answer
error: Content is protected !!