वर्मी खाद फसल के लिए हैं उपयोगी, जिले में पर्याप्त स्टॉक है,किसानों तक पहुचाए कलेक्टर

वर्मी खाद फसल के लिए हैं उपयोगी, जिले में पर्याप्त स्टॉक है,किसानों तक पहुचाए:कलेक्टर

जिला सहकारी संगोष्ठी में समितियों के कार्यों की हुई सराहना

जांजगीर चांपा। जिला पंचायत सभाकक्ष में आयोजित जिला सहकारी संगोष्ठी में कलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा ने समितियों के कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि आपके कार्यों से किसानों को राहत मिलती है। आप जितना जिम्मेदारी से कार्य करेंगे,आपके क्षेत्र का किसान सरकार की योजनाओं का लाभ उतना ही आसानी से उठा पायेगा। किसान इस प्रदेश और जिले की पहचान है। इसलिए किसानों को कोई परेशानी न हो, यह बात हम सबकों ध्यान रखनी चाहिए। संगोष्ठी में इफको नैनों यूरिया आधारित नैनो यूरिया तरल, सागरिका तरल की जानकारी दी गई।

कलेक्टर ने जिले में खाद की गंभीर समस्या नहीं होने की जानकारी देते हुए बताया कि गत वर्ष की तुलना में इस वर्ष अधिक भंडारण-वितरण किया गया। वर्मी खाद भी जिले में लगभग 15 हजार क्विंटल उपलब्ध है। यह बहुत ही उपयोगी और फसलों के उत्पादन को बढाने वाला और मिट्टी को मुलायम करने वाला खाद है। कलेक्टर सिन्हा ने कहा कि वर्तमान में जो खाद है उसका वितरण जरूरतमंद किसानों को अवश्य कराए। इस कार्य में बैंक प्रबंधक और सोसायटी वाले भी अपनी जिम्मेदारियों का बखूबी निर्वहन कर सकते हैं। स्व-सहायता समूहों द्वारा लगातार वर्मीकम्पोस्ट निर्माण भी किया जा रहा है। पहले जो उपलब्ध है,उसका सोसायटीवार वितरण जरूरी है। कलेक्टर ने कुछ खाद के आधुनिक विकल्प को भी अपनाने की सलाह दी। कलेक्टर सिन्हा ने राजीव गांधी किसान न्याय योजना अंतर्गत धान के बदले अन्य फसल लेने वाले किसानों को भी आदान सहायता राशि उपलब्ध कराने औऱ फसल बीमा से लाभान्वित करने, केसीसी के संबंध में निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि राज्य शासन के केंद्रबिंदु में किसान पहली प्राथमिकता में है। सहकारी समितियों द्वारा भी किसानों के हित के लिए कार्य किया जाता है। समितियों के कमीशन की राशि को शीघ्र ही उनके खाते में हस्तांतरित कर दी जाएगी। इस अवसर पर जिला पंचायत सीईओ फरिहा आलम सिद्दीकी भी उपस्थित थी।

Leave a Comment

Advertisement
What does "money" mean to you?
  • Add your answer
error: Content is protected !!