कलेक्टर के निर्देश पर शासकीय कार्यालय पहुँचे जॉइंट कलेक्टर, एसडीएम, तहसीलदार, कलेक्टर ने दी हिदायत जांच में अनुपस्थित मिले 100 से अधिक अधिकारी कर्मचारी

कलेक्टर ने दी थी हिदायत, जांच में अनुपस्थित मिले सौ से अधिक अधिकारी-कर्मचारी

Advertisement

कलेक्टर के निर्देश पर शासकीय कार्यालय पहुँचे जॉइंट कलेक्टर, एसडीएम, तहसीलदार

अनुपस्थितों को नोटिस जारी कर वेतन काटने के दिए निर्देश

जांजगीर चांपा। 18 जुलाई 2022/ शासकीय कार्यालयों में अधिकारी-कर्मचारियों की उपस्थिति समय पर सुनिश्चित करने कलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा ने यहाँ आते ही बैठक लेकर सभी को निर्देशित किया था। आज सोमवार को उनके निर्देश पर सयुंक्त कलेक्टर निशा नेताम मंडावी और एसडीएम जांजगीर नंदिनी कमलेश साहू, पामगढ़ बी एस मरकाम, तहसीलदार डभरा, चाम्पा, शिवरीनारायण, सक्ती ने शासकीय कार्यालयों में आकस्मिक निरीक्षण किया तो अनेक अधिकारी-कर्मचारी कार्यालयीन समय पर भी दफ्तर नहीं पहुँचे थे। कुल 101 अधिकारी-कर्मचारी अनुपस्थित पाये गये। सभी को नोटिस जारी कर वेतन काटने की कार्यवाही की जा रही है। कलेक्टर सिन्हा ने आखिरकार अपने दिए गए अल्टीमेटम पर अमल करना शुरू कर दिया है। आज वे प्रातः10 बजे ऑफिस पहुँचे। उन्होंने जिला कार्यालय से संयुक्त कलेक्टर और एसडीएम को निर्देशित किया कि अपने क्षेत्र के शासकीय कार्यालय में जाकर उपस्थिति की तत्काल जाँच करें और जो भी अनुपस्थित है, उनको कारण बताओं नोटिस जारी कर वेतन काटने की कार्यवाही करें। कलेक्टर के निर्देश पर एसडीएम पामगढ़ मरकाम ने जनपद पंचायत कार्यालय में स्थापना, एनआरएलएम शाखा, आवास शाखा, मनरेगा शाखा की उपस्थिति पंजी का 10.25 बजे आकस्मिक निरीक्षण किया। यहाँ अनुपस्थित 20 अधिकारी-कर्मचारियों को नोटिस जारी करने सीईओ पामगढ़ को निर्देशित किया गया। पामगढ़ में विकास खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय का 10.40 बजे निरीक्षण के दौरान 05 और आईसीडीएस तथा बीआरसी में 1-1 अधिकारी-कर्मचारी अनुपस्थित पाए गए। इसी तरह कलेक्टर सिन्हा के निर्देश पर सयुंक्त कलेक्टर ने जिला शिक्षा कार्यालय, सहायक आयुक्त आदिवासी विभाग कार्यालय, आबकारी विभाग, उप संचालक कृषि -अनुविभागीय अधिकारी कृषि विभाग के कार्यालयों का सुबह 10 से 10.20 के बीच आकस्मिक निरीक्षण किया। जिसमें शिक्षा विभाग के 9 कर्मचारी, ट्राइबल विभाग में 4, कृषि विभाग में 08, आबकारी विभाग में 09 कर्मचारी-अधिकारी कार्यालयीन समय पर अनुपस्थित पाए गए। इसी तरह जांजगीर एसडीएम नंदिनी कमलेश साहू द्वारा शासकीय कार्यालयों का आकस्मिक निरीक्षण किया गया। जिसमें शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय खोखरा में व्याख्याता एल बी कुमारी कांति यादव, सीमा तिवारी, सहायक ग्रेड 2 एस के कश्यप, सहायक ग्रेड 3 एम आर बेग और पूर्व माध्यमिक शाला कचहरी चौक में प्रधान पाठक जयंती दुबे अनुपस्थित पायी गयी। इसी तरह कार्यालय उप संचालक खाद्य एवं औषधि प्रशासन का कार्यालय प्रातः 10.18 में बंद पाया गया। यहां सहायक औषधि नियंत्रक प्रीतम ओगरे, औषधि निरीक्षक सुनील सिंह परिहार, दुर्गेश कैवर्त्य, हितेन्द्र बाम्बोडे, प्रतिभा राजपुत, सुमनलता कवंर, नेहा मिंज, खाद्य सुरक्षा अधिकारी दीपक देवागंन, अर्पणा आर्या, नमूना सहायक शांतनु भट्टाचार्य, सरिता मरावी और सुलोचना कवंर सभी अनुपस्थित थे।

आगे भी जारी रहेगी कार्यवाही:कलेक्टर कलेक्टर सिन्हा जिले में शासकीय अधिकारियों की उपस्थिति मुख्यालय में सुनिश्चित करने के निर्देश लगातार दे रहे हैं। उन्होंने फील्ड के स्टाफ को भी मुख्यालय और कार्यालयों में रहने के निर्देश दिया हुआ है। इसी कड़ी में अब उन्होंने शासकीय कार्यालयों में अधिकारियों-कर्मचारियों की उपस्थिति सुनिश्चित करने जाँच के निर्देश दिए हैं। वे स्वयं भी समय पर अपने दफ्तर पहुँच रहे हैं और आने वाले दिनों में आकस्मिक निरीक्षण करने निकलेंगे। उन्होंने सभी अधिकारी-कर्मचारियों को निर्देशित किया है कि वे शासन द्वारा निर्धारित कार्यालयीन समय तक अनिवार्य रूप से कार्यालय में उपस्थित होकर शासकीय कामकाज करें। सोमवार को कार्यालय उपस्थिति के अलावा अन्य दिनों में आवश्यकता अनुसार फील्ड में भी कार्य करें। कलेक्टर ने कहा है कि आने वाले दिनों में भी यह कार्यवाही लगातार जारी रहेगी। मुख्यालय से बाहर आना-जाना नहीं चलेगा। स्कूल, स्वास्थ्य केंद्र, आंगनबाड़ी सहित सभी कार्यालयों में आकस्मिक निरीक्षण सुबह और शाम को किया जाएगा। अनुपस्थिति पर वेतन काटने के साथ विभागीय कार्यवाही भी सुनिश्चित की जाएगी।

Leave a Comment

Advertisement
What does "money" mean to you?
  • Add your answer
error: Content is protected !!