कलेक्टर नुपूर राशि पन्ना ने समय-सीमा की बैठक ली कलेक्टर 1 नवम्बर को आयोजित होने वाले राज्योत्सव की तैयारी की जानकारी ली और आवश्यक दिशा निर्देश दिए

 

कलेक्टर नुपूर राशि पन्ना ने समय-सीमा की बैठक ली

Advertisement

कलेक्टर 1 नवम्बर को आयोजित होने वाले राज्योत्सव की तैयारी की जानकारी ली और आवश्यक दिशा निर्देश दिए

सक्ती 27 अक्टूबर 2002 / कलेक्टर नुपूर राशि पन्ना ने आज समी विभागीय अधिकारियों की समीक्षा बैठक ली। बैठक में कलेक्टर ने कहा कि पात्र हितग्राहियों को शासन की योजनाओं से लाभान्वित करना हमारी जिम्मेदारी है, कोई भी हितग्राही शासन की योजना से वंचित न रहे इसका पूरा ध्यान रखें। उन्होंने शासन के फ्लैगशीप योजना, कार्यक्रमों के क्रियान्वयन प्राथमिकता से करने के निर्देश दिए तथा व्यापक प्रचार-प्रसार करने के लिए सभी अधिकारियों को निर्देश दिए।कलेक्टर ने 1 नवम्बर छत्तीसगढ़ स्थापना दिवस को जिले में गरिमामय ढंग से मनाने के लिए सभी आवश्यक तैयारी सुनिश्चित करने के निर्देश संबंधित अधिकारी को दिए है। उन्होंने सभी विभागों को शासन के योजनाओं कार्यक्रमों के व्यापक प्रचार-प्रसार के लिए आकर्षक प्रदर्शनी लगाने के निर्देश दिए है।

कलेक्टर ने कहा कि धान खरीदी शासन की महत्वपूर्ण कार्य है। इसके लिए सभी संबंधित अधिकारी धान खरीदी केन्द्रों का निरीक्षण करते हुए केन्द्रों में साफ-सफाई, कम्प्यूटर की व्यवस्था धान को बारिश से बचाने के लिए तिरपाल बारदानों की उपलब्धता, पेयजल विद्युत सहित अन्य व्यवस्था सुनिश्चित करने कर लें। उन्होंने छत्तीसगढ़िया ओलम्पिक की जानकारी लेते हुए कहा कि जिले में जोन स्तरीय खेलों का आयोजन संपन्न हो गया है। अब ब्लाक स्तरीय खेलो का आयोजन किया जा रहा है। कलेक्टर ने भेट मुलाकात के दौरान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा दिए गए निर्देशों का जल्द से जल्द सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। बैठक में कलेक्टर ने गोधन न्याय योजना की समीक्षा करते हुए कहा कि जिले में संचालित सभी गौठानों में किए जा रहे गोबर खरीदी और गोमूत्र खरीदी की जानकारी ली। उन्होंने गौठानों से जुड़े सभी स्व सहायता समूहों को गौठानों एक्टीविटी संचालित करने कहा है। उन्होंने रीपा के तहत चिन्हांकित गौठानों में व्यवस्था सुनिश्चत करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने सिंचाई विभाग को रबी फसल के लिए नहरों से पानी की सुविधा रोकते हुए धान के बदले दूसरी लाभदायक फसलें जैसे – गेहू, चना, मटर, सरसों, मक्का, उड़द, मूंग आदि फसल के लिए प्रोत्साहित करने कहा। बैठक में कलेक्टर ने राजस्व अधिकारियों को नामांतरण, सीमांकन, बंटवारा, डायवर्सन, अन्य राजस्व प्रकरण, तथा अन्य विभिन्न शिकायतो का निराकरण समय-सीमा में करने के निर्देश दिए।

बैठक में कलेक्टर ने सड़कों मरम्मत, जल जीवन मिशन, नरवा के कार्य, मनरेगा, राजस्व प्रकरणों के निराकरण, लोक सेवा गारंटी, राजीव युवा मितान क्लब, हाट बाजार क्लीनिक योजना, धन्वंतरी योजना, निर्माण कार्यों की अद्यतन स्थिति, मुख्यमंत्री सुपोषण योजना, सी मार्ट, राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर योजना, चिटफंड, सहित अन्य योजनाओं का भी समीक्षा की और आवश्यक दिशा निर्देश दिए। बैठक में सभी विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

 

Leave a Comment

Advertisement
What does "money" mean to you?
  • Add your answer
error: Content is protected !!