प्रभारी सचिव ने जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक लेकर की योजनाओं की समीक्षा

 

समयबद्ध कार्य एवं पारदर्शी प्रशासन की दिशा में कार्य करें  धनंजय देवांगन

Advertisement

प्रभारी सचिव ने जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक लेकर की योजनाओं की समीक्षा

जांजगीर-चांपा 12 दिसम्बर 2022/ जिले के प्रभारी सचिव और छत्तीसगढ़ शासन के गृह, आवास एवं पर्यावरण सचिव धनंजय देवांगन ने आज जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक लेकर शासन की योजनाओं के क्रियान्वयन की समीक्षा की। उन्होंने सभी अधिकारियों को कलेक्टर का अंग बताते हुए जिले के विकास हेतु समयबद्ध एवं पारदर्शी प्रशासन के दिशा में कार्य करने के निर्देश दिए। प्रभारी सचिव ने जांजगीर-चांपा जिले को मैदानी जिला बताते हुए स्वास्थ्य, शिक्षा, सुपोषण, रोजगार, की दिशा में बेहतर कार्य करते हुए अधिक से अधिक जरूरतमंद लोगो तक योजनाओं को पहंुचाने और उनके जीवन स्तर में बदलाव लाने कहा। प्रभारी सचिव देवांगन ने मुख्यमंत्री के भेंट मुलाकात कार्यक्रम अभियान में बेहतर परफॉरमेंस पर जिले के कलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा सहित अधिकारियों को बधाई भी दी।
कलेक्टोरेट के सभाकक्ष में जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक में प्रभारी सचिव  देवांगन ने धान खरीदी, धान उठाव, राजीव गांधी ग्रामीण कृषि भूमिहीन मजदूर न्याय योजना, गोधन न्याय योजना, रीपा, पैरादान, सुपोषण योजना, जाति प्रमाण पत्र वितरण, निर्माण कार्य, पीडीएस, राजस्व आदि की विस्तार से समीक्षा की। उन्होंने जिले में धान खरीदी केन्द्रों में किसानों को किसी प्रकार की समस्या न हो और उपार्जन केन्द्र स्थल पर किसानों हेतु छाया, पानी, शौचालय, ओआरएस के पैकेट रखने तथा धान बेचने आने वाले कृषकों को टोकन जारी करते हुए पारदर्शी ढंग से धान खरीदी करने के निर्देश दिए।  देवांगन ने धान के उठाव और बारदाना की भी समीक्षा की। बैठक में राजीव गांधी ग्रामीण कृषि भूमिहीन मजदूर न्याय योजना अंतर्गत सभी जनपद सीईओ एवं तहसीलदारों को निर्देशित किया गया कि वे ग्राम पंचायतवार, ग्रामवार, पटवारी तथा सचिव के साथ बैठकर भूमिहीन हितग्राहियों को चिन्हाकित करें और पात्रतानुसार योजनाओं का लाभ देना सुनिश्चित करें। प्रभारी सचिव ने गोधन न्याय योजना अंतर्गत जिले में मॉडल गौठान तैयार करने तथा ग्रामवार मवेशियों की संख्या एवं गौठान में क्रय किए जा रहे गोबर की मात्रा की सूची तैयार करने के निर्देश दिए। उन्होंने ग्रामीण औद्योगिक पार्क (रीपा) अंतर्गत जिले से कोसा, कांसा और कंचन जैसे व्यवसाय का चयन करने का सुझाव दिया।  देवांगन ने पैरादान की समीक्षा करते हुए निर्देशित किया कि जिले में पराली जलाने वालों पर कड़ी कार्रवाई सुनिश्चित की जाए। प्रभारी सचिव ने लंबित राजस्व प्रकरणों के निराकरण के निर्देश देते हुए आदेश जारी होने के पश्चात संबंधित तक इसके क्रियान्वयन सुनिश्चित करने, नक्शा में दुरूस्तीकरण समय पर करने तथा नुजूल पट्टा नवीनीकरण कार्य में अभियान चलाने के निर्देश दिए। उन्होंने फसल कटाई होने की बात कहते हुए सीमांकन के प्रकरणों पर त्वरित कार्रवाई सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने स्कूली विद्यार्थियों के जाति प्रमाण पत्र बनाने हेतु केवल फॉर्म वितरण तक सीमित नही रहने के निर्देश देते हुए लंबित आवेदनों के निराकरण हेतु समयसीमा निर्धारित करने के निर्देश दिए। प्रभारी सचिव ने निर्माण कार्याें को समय पर पूरा करने, लापरवाही करने वालों के विरूद्ध कार्रवाई करने, दुर्घटना से बचाव हेतु आवश्यक संकेतक लगाने के भी निर्देश दिए। उन्होंने पीडीएस अंतर्गत खाद्यान वितरण, घुरूवा योजना, खाद का उठाव, चारागाह, स्वामी आत्मानंद विद्यालय, गौमूत्र विक्रय आदि की समीक्षा की। कलेक्टर  सिन्हा ने प्रभारी सचिव द्वारा दिए गए निर्देशों के तहत जिले के सभी अधिकारियों को योजनाओं के क्रियान्वयन सुनिश्चित करने और समय पर कार्यालय में अपनी उपस्थिति प्रदान करने के निर्देश दिए। इस दौरान अपर कलेक्टर  एस पी वैद्य, सभी एसडीएम सहित जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

जनदर्शन में शासकीय कर्मचारी पहुंचेगे तो होगी कार्रवाई

प्रभारी सचिव  देवांगन ने कलेक्टर जनदर्शन में शिकायत लेकर पहुंची शिक्षा विभाग की एक शासकीय अधिकारी पर कड़ी नाराजगी जतायी। उन्होंने उक्त अधिकारी पर सिविल आचरण सहिंता के तहत कार्रवाई सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। प्रभारी सचिव ने जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक में सभी अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिए कि वे अपने अधीनस्थ कार्यालयों में अनुशासन सुनिश्चित करें। जनदर्शन आमनागरिकों के लिए हैं। अधिकारी-कर्मचारी अपनी शिकायत अपने विभाग के उच्च अधिकारियों के समक्ष अपना आवेदन प्रस्तुत करें।

Leave a Comment

Advertisement
What does "money" mean to you?
  • Add your answer
error: Content is protected !!