नौकरी दिलाने के नाम पर 9 लाख 50000 रुपये की धोखाधड़ी करने वाले 02 आरोपी गिरफ्तार

नौकरी दिलाने के नाम पर धोखाधड़ी करने वाले 02 आरोपी को गिरफ्तार करने में पामगढ़ पुलिस को मिली सफलता
आरोपियो को विशेष टीम और थाना पामगढ़ पुलिस द्वारा किया गया गिरफ्तार
आरोपियो द्वारा वर्ष 2022 में प्रार्थियो से सरकारी नौकरी लगाने के एवज में कुल 9,50,000 रूपये की धोखाधड़ी किया गया था।
आरोपियों द्वारा 05 व्यक्तियों से अलग-अलग विभाग में नौकरी लगाने के नाम से धोखाधड़ी किया गया*
आरोपी शैलेंद्र मांडले एवं खिलेंद्र जयसवाल दोनों निवासी हाउसिंग बोर्ड कालोनी जांजगीर को दिनाँक 14.12.22 को भेजा गया न्यायिक अभिरक्षा में
आरोपियों के विरूद्ध थाना पामगढ़ में अपराध क्रमांक 485/22 धारा 420,34 भादवि पंजीबद्ध

Advertisement

 

पामगढ़।   नौकरी लगाने के नाम पर धोखाधड़ी करने वाले दो युवक गिरफ्तार रामगोपाल दिनकर उम्र 27 वर्ष निवासी मेऊ थाना पामगढ़ द्वारा रिपोर्ट दर्ज कराया कि मार्च 2022 में आरोपी शैलेंद्र मांडले उम्र 34 वर्ष और खिलेंद्र जयसवाल उम्र 34 वर्ष दोनों निवासी हाउसिंग बोर्ड कालोनी जांजगीर द्वारा प्रार्थी से स्वास्थ विभाग वार्ड ब्वाय में नौकरी लगाने के नाम से 3 लाख रुपये, नरेश टण्डन उम्र 37 वर्ष निवासी मेउ से शिक्षक के पद पर नौकरी लगाने के नाम से 150000 रुपये, तेरस राम कुर्रे उम्र 66 वर्ष निवासी मेऊ से वार्ड ब्वाय की नौकरी लगाने के नाम से 150000 रुपये, रामगोपाल उम्र 27 वर्ष निवासी बुंदेला से फुट विभाग में नौकरी लगाने के नाम से 150000 रुपये एवं धरमलाल अनन्त से वार्ड ब्वाय में नौकरी लगाने के नाम से 2 लाख रुपये इस प्रकार आरोपियों द्वारा नौकरी लगाने के नाम से कुल 9,50,000 रूपये की धोखाधड़ी किया गया है। प्रार्थियों द्वारा उक्त राशि को रोजी मजदूरी कर एकत्र कर आरोपियों को देना बताया गया है। प्रार्थियों द्वारा दोनो आरोपियों से लगातार अपना पैसा मांगा जा रहा था लेकिन उनके द्वारा टाल मटोल किया जा रहा था।
आरोपियों के विरूद्ध थाना पामगढ़ में अपराध क्रमांक 485/22 धारा 420,34 भादवि पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।
प्रकरण की गंभीरता को ध्यान में रखते हुये आरोपी शैलेंद्र मांडले उम्र 34 वर्ष और खिलेंद्र जयसवाल उम्र 34 वर्ष निवासी हाउसिंग बोर्ड कालोनी जांजगीर को साइबर सेल से प्राप्त तकनीकी जानकारी के आधार पर दिनाँक 14.12.22 को गिरफ्तार कर न्यायालय पेश किया गया जहाँ से आरोपियो को न्यायिक अभिरक्षा में जेल दाखिल किया गया।
उक्त कार्यवाही में उपनिरीक्षक सनत मांत्रे, सउनि सुनील टैगोर, प्रधान आरक्षक सुधीर साहू, आरक्षक उमेश दिवाकर, टिकेश्वर राठौर तथा सायबर सेल से स उ नि मुकेश पाण्डेय, प्र.आर. बलबीर सिंह, जितेंद्र परिहार, मो. तौफिक एवम आरक्षक विवेक सिंह का सराहनीय योगदान रहा।

Leave a Comment

Advertisement
What does "money" mean to you?
  • Add your answer
Advertisement
error: Content is protected !!