बाबा गुरु घासीदास ने मानवता और भाईचारे का दिया संदेश मुख्यमंत्री बघेल

 बाबा गुरु घासीदास ने मानवता और भाईचारे का दिया संदेश मुख्यमंत्री बघेल

Advertisement
मुख्यमंत्री श्री बघेल

अमरटापू धाम में मेला आयोजन के लिए प्रतिवर्ष
मिलेगा 10 लाख रूपए

अमरटापू में खुलेगा स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल और नवीन धान खरीदी केन्द्र, उप स्वास्थ्य केन्द्र का होगा प्राथमिक स्वास्थ्य के रूप में उन्नयन

मुख्यमंत्री एक दिवसीय गुरू पर्व मेला कार्यक्रम में हुए शामिल

रायपुर, 18 दिसम्बर 2022

अमरटापू धाम में मेला आयोजन के लिए प्रतिवर्ष  मिलेगा 10 लाख रूपएमुख्यमंत्री एक दिवसीय गुरू पर्व मेला कार्यक्रम में हुए शामिलअमरटापू में खुलेगा स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल और नवीन धान खरीदी केन्द्र, उप स्वास्थ्य केन्द्र का होगा प्राथमिक स्वास्थ्य के रूप में उन्नयन

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज मुंगेली विकासखंड के ग्राम मोतिमपुर अमरटापू धाम में आयोजित एक दिवसीय गुरू पर्व मेला कार्यक्रम में शामिल हुए। इस अवसर पर उन्होंने बाबा गुरु घासीदास अमरटापू मंदिर एवं जैतखाम का पूजा-अर्चना कर प्रदेशवासियों की सुख समृद्धि और खुशहाली की कामना की। उन्होंने लोगों को बाबा गुरु घासीदास जयंती की बधाई एवं शुभकामनाएं भी दी।
मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में मोतिमपुर में आयोजित होने वाले मेले के लिए प्रतिवर्ष 10 लाख रूपए देने, क्षेत्र के किसानों की सुविधा के लिए खरीफ विपणन 2023-24 में नवीन धान उपार्जन केन्द्र प्रारंभ करने, आमलोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने के लिए उप स्वास्थ्य केन्द्र को प्राथमिक स्वास्थ्य के रूप में उन्नयन करने और विद्यार्थियों को अंग्रेजी माध्यम में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा उपलब्ध कराने के लिए मोतिमपुर अमरटापू धाम में स्वामी आत्मानंद शासकीय अंग्रेजी माध्यम स्कूल खोलने और नवनिर्मित मंगल भवन के विस्तार हेतु 50 लाख रुपये की अतिरिक्त राशि देने, संभागीय मुख्यालय में अनुसूचित जाति एवं अन्य पिछड़ा वर्ग के छात्रों के लिए छात्रावास और प्रयास स्कूल भवन के निर्माण की घोषणा की।
मुख्यमंत्री बघेल ने गुरूपर्व को संबोधित करते हुए कहा कि आज हम सभी बाबा गुरु घासीदास की जयंती हर्षाेल्लास के साथ मना रहे हैं। बाबा जी का संदेश है कि ‘‘मनखे-मनखे एक समान’’ इससे बढ़कर दूसरा कोई संदेश नहीं हो सकता। उन्होंने कहा कि बाबा गुरु घासीदास ने मानवता और भाईचारे का संदेश दिया है। जो आज भी सार्थक है। मुख्यमंत्री ने कहा कि बाबा ने सत्य के रास्ते में चलने का संदेश दिया है। जैतखाम में सफेद ध्वज शांति भाई चारे का प्रतीक है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार संत महात्माओं के बताए हुए रास्ते पर चल रही है। हमने जो कहा वह काम किया गया है, चाहे किसानों का कर्जा माफ हो, समर्थन मूल्य पर 2500 रूपए क्विंटल में धान खरीदी, बिजली बिल हॉफ, इस तरह विभिन्न जनकल्याण का कार्य किया गया है। उन्होंने कहा कि राज्य में समर्थन मूल्य पर धान खरीदी की व्यवस्था सुचारू रूप से जारी है। अब तक 58 लाख मीट्रिक धान की खरीदी की जा चुकी है। किसानों को धान खरीदी की राशि का भुगतान समय पर हो रहा है। इससे हमारे अन्नदाता किसान प्रसन्न हैं। गोधन न्याय योजना के तहत 02 रूपए किलो की दर से गोबर खरीदी की जा रही है, जिससे समूह की महिलाएं, गौपालकों के बैंक खाते मे पैसा जा रहा है। राजीव गांधी भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना के तहत सालाना मजदूरों को 7000 रुपए दी जा रही है। बैगा, भूमिया, नाई, लोहार, धोबी, पुरोहित जिनके पास जमीन नहीं है उन्हें भी इस योजना के तहत लाभांवित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार आर्थिक रूप से उन्नति का रास्ता अपनाते हुए शिक्षा, स्वास्थ्य की दिशा में लगातार कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि कल 17 दिसंबर को राज्य सरकार के 04 वर्ष पूर्ण होने पर ’मुख्यमंत्री वृक्ष सम्पदा’ योजना के लिए 100 करोड़ रूपए, सभी शालाओं, छात्रावासों, आश्रमों, शासकीय भवनों के रख-रखाव और उन्नयन के लिए एक हजार करोड़ रूपए और तकनीकी शिक्षा के स्तर में सुधार हेतु औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थाओं के उन्नयन के लिए ’स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट आईटीआई योजना’ के तहत 1200 करोड़ रूपए की स्वीकृति दी गई है। उन्होंने कहा कि जनगणना के आधार पर आरक्षण की व्यवस्था की गई है। हमारी सरकार ने अनुसूचित जाति को 13 प्रतिशत, अनुसूचित जनजाति को 32 प्रतिशत, अन्य पिछड़ा वर्ग को 27 प्रतिशत और आर्थिक रूप से कमजोर ईडब्ल्यूएस को 4 प्रतिशत आरक्षण देने की व्यवस्था की है। उन्होंने कहा कि 2021 की जनगणना अभी लंबित है, उसके पूर्ण होने के उपरांत जनसंख्या के अनुपात में आरक्षण की व्यवस्था की जाएगी।
नगरीय प्रशासन मंत्री  शिवकुमार डहरिया ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि बाबा गुरु घासीदास की जयंती सतनामी समाज ही नहीं पूरा छत्तीसगढ़िया समाज द्वारा मनाया जाता है। उन्होंने कहा कि बाबा गुरु घासीदास ने सतनाम का जो रास्ता बताया है, जो संदेश दिया है, वह सभी समाज के लिए के लिए सार्थक है। बाबा घासीदास ने सभी समाज को लेकर चला। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल के नेतृत्व में लगातार विकास का कार्य हो रहा है। छत्तीसगढ़ की परंपरा, संस्कृति, खेल कूद को आगे बढ़ाने का काम किया जा रहा है। राजीव युवा मितान क्लब के जिला समन्वयक एवं गुरू अमरदास सेवा समिति अमरटापू धाम (मोतिमपुर) के अध्यक्ष  दुर्गा बघेल ने स्वागत भाषण दिया।
इस अवसर पर राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष  थानेश्वर साहू, पर्यटन मंडल के अध्यक्ष  अटल श्रीवास्तव, बिलासपुर नगर निगम महापौर  रामशरण यादव, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती लेखनी सोनू चंद्राकर, नगर पालिका मुंगेली के अध्यक्ष  हेमेंद्र गोस्वामी, जिला पंचायत उपाध्यक्ष  संजीत बनर्जी, छत्तीसगढ़ श्रम कल्याण मंडल के सदस्य  अंबालिका साहू, अनुसूचित जाति प्राधिकरण के सदस्य  रत्नावली कौशल, पूर्व विधायक  चंद्रभान बारमते, जिला पंचायत सदस्य  जागेश्वरी वर्मा, लोरमी जनपद पंचायत उपाध्यक्ष  खुशबू आदित्य वैष्णव, गणमान्य नागरिक सहित, जनप्रतिनिधि और बड़ी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित थे।

Leave a Comment

Advertisement
What does "money" mean to you?
  • Add your answer
error: Content is protected !!