जाज्वल्यदेव लोक महोत्सव एवं एग्रीटेक कृषि मेला 2024 चना के दार मोर राजा, चना के दार मोर रानी छत्तीसगढ़ी लोक गीत की प्रस्तुति ने लोगो को मंत्रमुग्ध

जाज्वल्यदेव लोक महोत्सव एवं एग्रीटेक कृषि मेला 2024 चना के दार मोर राजा, चना के दार मोर रानी छत्तीसगढ़ी लोक गीत की प्रस्तुति ने लोगो को मंत्रमुग्ध

महोत्सव के समापन में अखिल भारतीय कवि सम्मेलन का हुआ आयोजन

 

जांजगीर-चांपा 13 फरवरी 2024/ जाज्वल्यदेव लोक महोत्सव एवं एग्रीटेक कृषि मेला 2024 में 12 फरवरी को हाईस्कूल मैदान जांजगीर में महोत्सव के समापन अवसर पर अनुराग धारा कविता वासनिक छत्तीसगढ़ी लोक नृत्य एवं अखिल भारतीय कवि सम्मेलन का का आयोजन किया गया। कविता वासनिक ने पता देजा रे – पता लेजा रे, गाड़ीवाला के जब प्रस्तुति दी तो उपस्थित श्रोता गणों ने तालियां बजाकर उनकी प्रस्तुति को सराहा। इसके बाद मगनी म मांगे मया नई मिले रे, चना के दार मोर राजा, चना के दार मोर रानी गीत की प्रस्तुति ने लोगो को मंत्रमुग्ध कर दिया। उन्होंने छत्तीसगढ़ी ददरिया, लोक गीतो, कर्मा की प्रस्तुति दी।
अखिल भारतीय कवि सम्मेलन में  गोविन्द राठी (शुजालपुर),  पद्मिनी शर्मा (दिल्ली),  मनवीर मधुर (मथुरा),  मीर अली मीर (रायपुर),  हीरामणी वैष्णव (कोरबा),  रमेश विश्वहार (रायपुर) और बंशीधर मिश्रा (अकलतरा) द्वारा कविता पाठ किया गया। कवि सम्मेलन की शुरूआत कवित्री  पद्मिनी शर्मा ने सस्वती वंदना कर किया। इसके पश्चात सभी कवियों ने अपने प्रसिद्ध गीत, कविताओं से सभी श्रोता गणों का दिल जीत लिया। कार्यक्रम की अंतिम दिवस कवियों के द्वारा की गई ओजस्वी प्रस्तुति ने लोगो बांधे रखा। हास्य व्यंग, ओज, श्रृंगार करूणा और आध्यात्मिक रचनाओं ने लोगो को भाव विभूर कर दिया। इस अवसर पर सांसद  गुहाराम अजगल्ले, पूर्व विधायक  नारायण चंदेल, जिला पंचायत उपाध्यक्ष  राघवेन्द्र प्रताप सिंह, अपर कलेक्टर एस पी वैद्य,  अमर सुलतानिया,  देवेश सिंह सहित विभिन्न जन प्रतिनिधि, अधिकारी कर्मचारी एवं बड़ी संख्या में श्रोतागण उपस्थित थे।

Leave a Comment

What does "money" mean to you?
  • Add your answer
error: Content is protected !!