बिजली बिल बढ़ोतरी करना जनता के ऊपर भाजपा का अत्याचार शुरू – विजय

बिजली बिल बढ़ोतरी करना जनता के ऊपर भाजपा का अत्याचार शुरू – विजय

 

पामगढ़ 03 जून 2024,

बिजली के दामों में बढ़ोत्तरी जनता के ऊपर अत्याचार है। पामगढ़ एनएसयूआई के विधानसभा अध्यक्ष विजय यादव ने कहा कि राज्य सरकार के प्रस्ताव पर विद्युत नियामक आयोग ने विद्युत के दामों में बढ़ोतरी को मंजूरी दे दिया है, यह अनुचित है। भाजपा सरकार के वित्तीय कुप्रबंधन के कारण छत्तीसगढ़ का आम आदमी परेशान हो गया है। साय सरकार नागरिकों को हर तरफ साय साय परेशान करने की नीयत से काम कर रही है। सरकार ने रजिस्ट्री छूट को समाप्त किया, ईवे बिल को समाप्त किया।

अब बिजली बिल के दाम में लगभग 20 प्रतिशत की बढ़ोतरी कर दिया गया। बिजली के दाम बढने से घरेलू के साथ-साथ उद्योगों और व्यवसायिक उपभोक्ताओं को महंगी बिजली खरीदने को मजबूर होना पड़ेगा।

उद्योगों को महंगी बिजली मिलेगी तो उनके उत्पादों का महंगा होना स्वाभाविक है। ऐसे में आम आदमी पर दोहरी मार पड़ेगी। भाजपा की नीयत कमीशनखोरी करना है, उसे आम आदमी की सहूलियतों से कुछ लेना देना नहीं है। जबकि कांग्रेस सरकार ने छत्तीसगढ़ वासियों को आधा बिजली बिल के साथ दरों में भी कटौती की थी ये से सरकार आम जनता को राहत न देकर उससे महंगाई की मार से और दबाना चाहती है जबकि इन्होंने अपने गारंटी में रसोई गैस 500 और महंगाई कम करने की बात की थी पर ये गारंटी भी अब फेल दिखती नजर आ रही है।

Leave a Comment

[democracy id="1"]
error: Content is protected !!