छत्तीसगढ़ राज्य शतरंज चयन स्पर्धा, 5.5 अंकों के साथ आशुतोष बैनर्जी,यशद बांबेश्वर व शुभम सिंह शीर्ष पर

छत्तीसगढ़ राज्य शतरंज चयन स्पर्धा, 5.5 अंकों के साथ आशुतोष बैनर्जी,यशद बांबेश्वर व शुभम सिंह शीर्ष पर

 

पिथौरा 09 जून 2024,

9 चक्रों में खेली जा रही शतरंज की बाजियां
चेस फॉर एवरीवन के राष्ट्रीय चैंपियन रूपेश मिश्रा हुए उलटफेर का शिकार

पिथौरा में चल रही चार दिवसीय सीनियर महिला – पुरुष फीडे रेटिंग राज्य शतरंज चयन स्पर्धा के छठवें चक्र का शुभारंभ गेस्ट ऑफ़ द डे के रूप में उपस्थित एस डी ओ फॉरेस्ट यू आर बसंत ने किया । इस अवसर पर श्री बसंत ने अपने उदबोधन में कहा कि इस तरह के प्रदेश में फीडे रेटिंग स्पर्धा के आयोजन होते रहने से निश्चित रूप से प्रदेश में अंतराष्ट्रीय वरीयता प्राप्त खिलाड़ियों की संख्या में उत्तरोत्तर वृद्धि होगी। पिथौरा सरीखे छोटी सी इस जगह में 20 जिलों से 150 खिलाड़ियों की सहभागिता आयोजन की सफलता को दर्शाता है।उन्होंने सभी खिलाड़ियों को उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए शुभकामना दी।
राज्य सचिव एवं टूर्नामेंट डायरेक्टर हेमन्त खुटे ने अथिति यू आर बसंत को स्मृति चिन्ह भेंट की।
छठवें चक्र में खेले गए टॉप -10 बोर्ड के परिणाम इस प्रकार रहे –
पहले बोर्ड पर आशुतोष बैनर्जी दुर्ग 1939 (5 अंक) व राजनांदगांव के स्पर्श खंडेलवाल 1921 (4.5) के मध्य खेली गई बाजी बिना किसी हार – जीत के ड्रा पर छूटी। दोनों खिलाड़ियों ने आधे – आधे अंक आपस में बांटे।
दूसरे टेबल पर यशद बांबेश्वर दुर्ग 1860 (4.5अंक) ने सफेद मोहरे से खेलते हुए रायपुर के शुभांकर बामलिया 1711 (4.5 अंक) को हराया।
तीसरे टेबल पर रायपुर के अक्षत मोहबिया 1741 (4 अंक) व रायगढ़ के शुभम सिंह 1618 (4.5 अंक) के मध्य खेली गई रोचक बाजी में शुभम में उम्दा खेल का प्रदर्शन करते हुए शानदार जीत दर्ज की।
चौथे टेबल पर दुर्ग के ईशान सैनी 1566 ( 4 अंक) व दुर्ग के शीर्ष वरीयता प्राप्त खिलाड़ी शेख इदु 1944 (4 अंक) के बीच हुए संघर्षपूर्ण मुकाबले में शेख इदु ने आखिरकार जीत हासिल कर ली।
पांचवें टेबल पर बिलासपुर के संस्कार कश्यप 1557 (4 अंक) व रायगढ़ के गगन साहू 1789 (4 अंक) के बीच हुए मुकाबले में संस्कार ने गगन साहू को हराकर 1 अंक बटोरने में कामयाब रहे।
छठवें टेबल पर बलौदाबाजार के प्रसन्न शुक्ला 1535 (4 अंक) व बिलासपुर के रूपेश मिश्रा 1761 (4 अंक) के बीच हुए दिलचस्प मुकाबले में रूपेश मिश्रा उलटफेर का शिकार हुए। प्रसन्न शुक्ला ने रूपेश के खिलाफ बेहतरीन जीत दर्ज का शानदार कामयाबी हासिल की।
सातवें टेबल पर राहुल शर्मा 1689 (4 अंक) को बलौदाबाजार के रोहित साहू 1605 (4 अंक) ने काले मोहरे से खेलते हुए बाजी जीती।
आठवें टेबल पर सरगुजा के रविकांत गुप्ता 1501 (4 अंक) व कोरिया के दीपांकर सेनगुप्ता 1631 (4 अंक) के मध्य हुई बाजी में दीपांकर सेनगुप्ता ने अपने लंबे समय के अनुभव का लाभ उठाते हुए बाजी जीत ली।
नौवें टेबल पर बिलासपुर के संजय भारद्वाज 1491 ( 4 अंक) ने बिलासपुर के ही प्रमोद बेहरा 1623 ( 4 अंक) को हराया।
दसवें टेबल पर दुर्ग के पी एल शास्त्री 1609 (4 अंक) ने आदित्य मेश्राम रायपुर 1542 (4 अंक) को हराया।
प्रतियोगिता 9 चक्रों पर संपन्न होगी। स्पर्धा में सभी खिलाड़ी पूरे 9 चक्रों तक खेलते रहेंगे। सर्वाधिक अंकों के आधार पर खिलाड़ियों का चयन किया जाएगा।प्रतियोगिता के मुख्य निर्णायक सरगुजा के अनीस अंसारी है जोकि भारत के सबसे कम उम्र के अंतरराष्ट्रीय निर्णायक हैं। आर्बिटर पैनल में ओमप्रकाश वंदे,दिव्यांशु उपाध्याय,सुबोध सिंह,ईश्वर सिंह राजपूत,भावना जायसवाल,हेमा नागेश्वर, राजेश्वरी ध्रुवांशी,सतीश दास,रामकुमार विश्वकर्मा आदि शामिल है। जिला शतरंज संघ के अध्यक्ष डॉ डी एन साहू ,उपाध्यक्ष संजय श्रीवास्तव, कोषाध्यक्ष बीजू पटनायक का स्पर्धा को ऐतिहासिक रूप देने में अहम भूमिका रही।

Leave a Comment

[democracy id="1"]
error: Content is protected !!