नवागढ़ पुलिस के द्वारा दो अलग अलग प्रकरण के गुम (अपहृत) बालिकाओं को जम्मू कश्मीर से बरामद बरामद करने में मिली सफलता, नवागढ़ पुलिस की कार्यवाही

नवागढ़ पुलिस के द्वारा दो अलग अलग प्रकरण के गुम (अपहृत) बालिकाओं को जम्मू कश्मीर से बरामद बरामद करने में मिली सफलता, नवागढ़ पुलिस की कार्यवाही

 

 

नवागढ़ 09 जून 2024,

दोनो बालिकाएं लगभग 10 माह पूर्व एवं 06 माह पूर्व से अपने घर से गुम (अपहृत)थी

दोनों अपहृत बालिका को सकुशल सौपा गया पुलिस द्वारा उनके परिजनों को

प्रकरण में शामिल विधि विरुद्ध संघर्षरत बालक जिसको किशोर न्यायालय पेश उपरांत बाल संप्रेक्षण गृह कोरबा भेजा गया।

विवेक शुक्ला (भा.पु.से.) पुलिस अधीक्षक जांजगीर चांपा के निर्देशन में गुम बालक बालिकाओं का पतासाजी के लिए लगातार अभियान चलाया जा रहा हैं। इसी क्रम में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक  राजेंद्र कुमार जायसवाल एवं उप पुलिस अधीक्षक अजाक  अनिल कुर्रे के कुशल मार्ग दर्शन में गुम बालक बालिकाओं का लगातार पातासाजी की जा रही थी। जिसमे थाना नवागढ़ के दो प्रकरण में गुम बालिकाओं का जम्मू तरफ जाने का लोकेशन प्राप्त होने से थाना नवागढ़ से टीम बनाया गया जिसमे प्रधान आरक्षक प्रेमलाल दिवाकर , आरक्षक जनक कश्यप, महिला आरक्षक नीता महंत के टीम को जम्मू कश्मीर तरफ रवाना किया गया जहा पर पहले प्रकरण की अपहृता दिनांक 26/10/23 को बिना बताए अपने घर से अज्ञात व्यक्ति के बहलाने फुसलाने से कही चली गई थी जिस पर थाना नवागढ़ में अपराध क्रमांक 320/23 धारा 363 ipc कायम कर विवेचना में लिया गया था। अपहृता का लोकेशन जम्मू तरफ मिलने से टीम के द्वारा जम्मू में बरामद किया गया पूछताछ पर अपहृता के द्वारा बताया गया की अपहृता को नाबालिक बालक के द्वारा शादी का झांसा देकर भागकर ले गया था। जिस पर विधि विरुद्ध संघर्षरत बालक के विरुद्ध थाना नवागढ़ में धारा 363,366,376 भादवि 4, 6 पाक्सो एक्ट कायम कर किशोर न्याय बोर्ड के समक्ष पेश किया जाकर, बाल संप्रेक्षण गृह कोरबा भेजा गया।

एक अन्य प्रकरण में अपहृता दिनांक 10/01/24 को अपने गांव से बिना बताए कही चली गई थी जिस पर से थाना नवागढ़ में अपराध क्रमांक 14/24 धारा 363 भादवि कायम कर विवेचना में लिया गया अपहृता को जम्मू कश्मीर के पास से बरामद किया गया जाकर उसके परिजनों को सकुशल सुपुर्द किया गया है। प्रकरण में अग्रिम कार्यवाही की जा रही है ।

उक्त प्रकरण में थाना प्रभारी भास्कर शर्मा, प्रधान आरक्षक प्रेम लाल दिवाकर, स्वाति गिरोलकर, आरक्षक जनक कश्यप, महिला आरक्षक नीता महंत, साइबर सेल से प्रधान आरक्षक विवेक सिंह का महत्वपूर्ण योगदान रहा।

Leave a Comment

[democracy id="1"]
error: Content is protected !!