कलेक्टर ने गोधन न्याय योजना के उचित क्रियान्वयन के लिए विभिन्न विभागों की ली बैठक

कलेक्टर ने गोधन न्याय योजना के उचित क्रियान्वयन के लिए विभिन्न विभागों की ली बैठक

Advertisement

कलेक्टर ने आमजन से पैरादान करने की अपील

गोधन न्याय योजना में तेजी लाने के लिए मैदानी अमलों को करे दुरुस्त – कलेक्टर

उन्नत किस्म के खाद निर्माण के लिए स्व सहायता समूह को दिलाए प्रशिक्षण – कलेक्टर

गौठनों को मल्टी एक्टिविटी केंद्र के साथ-साथ सांस्कृतिक केंद्र के रूप में करें विकसित

जिले के गोठनों में प्रतिदिन 2 क्विंटल गोबर खरीदी करने के दिये निर्देश

जांजगीर चांपा।  6 नवंबर 2022 कलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा ने आज कलेक्टोरेट के सभाकक्ष में जिले में गोधन न्याय योजना के कार्यों में तेजी लाने के लिए कृषि विभाग, उद्यान, पंचायत नगरीय निकाय, ग्रामोद्योग, रेशम सहित संबंधित विभागों की बैठक ली। कलेक्टर ने बैठक में कहा कि गोधन न्याय योजना राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी योजना है, उन्होंने उपस्थित सभी अधिकारियों को रूचिपूर्ण ढंग से कार्य करते हुए मैदानी स्तर पर सरपंच, सचिव, गोठान समिति, विभागीय अधिकारी-कर्मचारी की बैठक लेकर कार्यों को दुरुस्त करने कहा। कलेक्टर ने जिले के सभी गोठनों में 2 क्विंटल गोबर प्रतिदिन खरीदी करने तथा गोठनों को मल्टीएक्टिविटी केंद्र के साथ-साथ एक ऐसे संस्कृति केंद्र के रूप में विकसित करने कहा जहां स्वसहायता समूहों और ग्रामीणों को अपने लिए एक बेहतर मंच मिल सके। कलेक्टर ने उन्नत किस्म के खाद निर्माण के लिए स्व सहायता समूह तथा संबंधित अधिकारियों कर्मचारियों को आवश्यक प्रशिक्षण उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। बैठक में कलेक्टर ने जिले के स्वावलंबी गौठनों में समिति के माध्यम से पैरा की व्यवस्था सुनिश्चित करने तथा अधिकारियों को गांवों में जागरूकता फैलाते हुए अभियान चलाकर लोगों को पैरादान के लिए प्रेरित करने कहा। इसके साथ ही जिले के हर गौठान में पैरा के उचित रखरखाव की व्यवस्था तथा अन्य आवश्यक प्रबंध करने के निर्देश दिए।
गोधन न्याय योजना की समीक्षा बैठक में कलेक्टर ने अद्यतन गोबर खरीदी के कार्य, गोमूत्र खरीदी की अद्यतन स्थिति,वर्मी कंपोस्ट निर्माण, पैकेजिंग ,स्व सहायता समूह को राशि आवंटन, चरागाह की स्थिति, आवारा मवेशियों के रखरखाव की व्यवस्था, गौठानवार खाद विक्रय की स्थिति , छत्तीसगढ़िया ओलंपिक के आयोजन आदि महत्वपूर्ण बिंदुओं पर विस्तार से चर्चा की। कलेक्टर ने हर ब्लाक के एक-एक गौठान में गोमूत्र खरीदी की शुरुआत करने के निर्देश दिए। बैठक में कलेक्टर ने सड़कों पर घूमने वाले आवारा मवेशियों के उचित रखरखाव के लिए गोठनों के चिन्हाकित क्षेत्र में आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने कहा उन्होंने कांजी हाउस सह गौठान बनाते हुए परिसर में चौकीदार कक्ष, सोलर लाइट तथा पशु चिकित्सकों के बैठने के लिए आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।
बैठक में कलेक्टर ने जिले में कुल तालाबों की संख्या सहित लीज पर दिए गए तालाबों की जानकारी ली उन्होंने मछली पालन विभाग को लीज पर देने वाले तालाबों की संख्या बढ़ाते हुए जिले में मछली पालन का क्षेत्र भी बढाने कहा जिससे जिले के राजस्व में वृद्धि हो सके। बैठक में कलेक्टर ने जिले के ऐसे व्यक्ति जिनका आधार कार्ड 10 साल पुराना हो चुका है उन्हें ब्लॉक व नगरीय निकाय के अधिकृत आधार सेंटर में अपने डाटा अद्यतन कराने की अपील की। बैठक में कलेक्टर ने बताया कि क्वाटिफायबल डाटा आयोग का पोर्टल 10 नवंबर तक के लिए पुनः खोला गया है जिसके लिए उन्होंने ऐसे पात्र व्यक्ति जो पोर्टल में एंट्री कराने से छूटे हुए हैं उनका एंट्री कराने के लिए जमीनी स्तर पर प्रचार प्रसार और मुनादी कराए जाने के निर्देश दिए। बैठक में जिला पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉक्टर ज्योति पटेल ,कृषि विभाग, उद्यान, पंचायत, नगरीय निकाय, ग्रामोद्योग, रेशम आदि विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

रीपा के अंतर्गत अधोसंरचना विकास के लिए युद्ध स्तर पर करें कार्य

बैठक में कलेक्टर ने जिले में रिपा के अंतर्गत अधोसंरचना विकास, भवन निर्माण आदि को युद्ध स्तर पर करने कहा। उन्होंने रीपा के अंतर्गत इच्छुक उद्यमियों को आरसेटी के माध्यम से आवासीय ट्रेनिंग भी उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं।

Leave a Comment

Advertisement
What does "money" mean to you?
  • Add your answer
error: Content is protected !!