ढाई माह पहले दिखता था खण्डहर और था धूलों का गुबार, कलेक्टर ने दिया संवार

ढाई माह पहले दिखता था खण्डहर और था धूलों का गुबार, कलेक्टर ने दिया संवार

Advertisement

ठेकेदार की हुई खूब तारीफ, जिले में इस तरह का नहीं है बढ़िया भवन

जांजगीर-चाम्पा 2 दिसम्बर 2022/ शासन के पैसों से बने भवन में कार्यालय का संचालन नहीं हो पाने से एक भवन समय के साथ खण्डहर में तब्दील होने जा रहा था। सफाई नहीं होने से भवन में गंदगी और धूलों का गुबार भी इस कदर जम गया था कि यहां कोई भीतर जाने से कतराता था। शासकीय कार्यालयों में उपस्थिति सहित शासकीय योजनाओं के क्रियान्वयन की जानकारी लेने जिले के कलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा 7 सितम्बर 2022 को जब अकलतरा ब्लॉक का दौरा कर रहे थे तभी उनकी नजर इस बड़े व बंद पड़े शासकीय भवन पर पड़ी। उन्होंने भवन को देखना चाहा। आखिरकार ताला खुलवाया गया। कलेक्टर भीतर घुसे तो देखा कि भवन तो बहुत बड़ा था। कई कमरे थे। अलग से हॉल और किचन, टॉयलेट सहित अन्य सुविधाएं दी। समय पर कार्यालय का संचालन नहीं होने से भवन में एक ओर जहां धुलों का गुबार जम गया था, वहीं बाहर झाड़िया, अंदर कीड़े-मकोड़े, सांप घुसने के साथ कई स्थानों पर टूट-फूट होने के साथ मरम्मत की दरकार भी थी। इस भवन की वस्तुस्थिति को देखकर कलेक्टर सिन्हा मौके पर न सिर्फ नाराज हुए, अपितु उन्होंने नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि अनेक कार्यालय पुराने भवन में जैसे-तैसे संचालित हो रहे हैं, ऐसे में किसी कार्यालय के लिए सर्वसुविधायुक्त नया भवन बनाया गया था तो शिफ्ट क्यों नहीं हुए ? यह तो सरकार के पैसे की बर्बादी है। उन्होंने तत्काल ही भवन को संवारने का संकल्प लिया और मौके पर अधिकारियों को निर्देश दिए। आखिरकार कलेक्टर सिन्हा एसडीएम ममता यादव के साथ जब ढ़ाई महीने बाद पुनः यहां आए तो यह खण्डहरनुमा और धुलों का गुबार वाला भवन आज ही कल में बना हुआ नया व चमचमाता हुआ दिखाई देने लगा है। अब इस भवन में जल्दी ही नगर पालिका परिषद अकलतरा के कार्यालय का संचालन होगा।
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल शासन की योजनाओं का लाभ जरूरतमंद हितग्राहियों तक पहुचाने की दिशा में काम करने के साथ लाभान्वित होने वालों की जानकारी लेने दूरस्थ क्षेत्रों में जाकर भेंट मुलाकात कर रहे हैं। वे शासन के पैसों की मितव्ययता न हो, इसके लिए भी अधिकारियों को निर्देश देते हैं। जिले के कलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा मुख्यमंत्री के निर्देशों के तहत ही जिले के शासकीय कर्मचारियों को समय पर कार्यालय पहुंचने और शासन की योजनाओं का समय पर क्रियान्वयन करने के निर्देश देते हुए अपनी पदस्थापना के बाद लगातार जिले के सभी ब्लॉकों में निरीक्षण करने पहुंच रहे हैं। इसी कड़ी में कलेक्टर सिन्हा ने अकलतरा में जब ताला लगे एक भवन को देखा था तो उन्होंने नगर पालिका के सीएमओ अजय सिंह और संबंधित ठेकेदार को तत्काल ही इसे संवारने के निर्देश दिए थे।

कलेक्टर ने की ठेकेदार की तारीफ, नो लॉस-नो प्रॉफिट में बनाया गुणवत्तापूर्ण भवन

वर्ष 2019-20 में तैयार होकर लगभग तीन महीने पहले तक कण्डम की हालत में पड़े इस भवन की स्थिति अब पहले जैसे नहीं रह गई। कलेक्टर की पहल से संवरे इस भवन में सिर्फ बाहरी आवरण ही नहीं, यहां के सभी कामों में गुणवत्ता की झलक दिखाई दे रही है। 7 सितम्बर 2022 को जब कलेक्टर सिन्हा यहां आए थे तो उन्होंने भवन को संवारने का ही संकल्प नहीं लिया था, मौके पर उपस्थित ठेकेदार अविनाश टण्डन को पहले काम पूरा करने और लंबित भुगतान को भी जारी करने का आश्वासन दिया था। कलेक्टर के आश्वासन से ठेकेदार ने भवन को कुछ इस तरह से गुणवत्ता के साथ संवार दिया कि कलेक्टर सहित अन्य सभी ने उनके कार्यों की तारीफ की। बताया गया कि ठेकेदार के 67 वर्षीय पिता डी पी टण्डन सरकारी सेवा से रिटायर्ड है, उनकी ख्वाहिश थी कि उनके क्षेत्र में गुणवत्ता के साथ ऐसा भवन बने, जो नगर के गौरव के रूप में हो। उन्होंने अपने कुछ पैसे भी इस भवन को बनाने में लगाए हैं। उनके पुत्र ने नो लॉस-नो प्रॉफिट आधार पर इस कार्य को पूरा किया है।

गौण खनिज से बनने वाला जिले का यह है शानदार भवन

कलेक्टर की पहल और ठेकेदार के गुणवत्तामूलक कार्यों से बहुत ही आकर्षक नजर आ रहे इस भवन का निर्माण लगभग डेढ़ करोड़ की लागत से गौण खनिज मद से किया गया था। हाल ही में इस भवन के चारों तरफ बाऊण्ड्रीवॉल भी बना दी गई है। कैम्पस में कृष्ण कुंज स्वीकृत कर कार्य प्रारंभ किया जा रहा है। अकलतरा सीएमओं अजय सिंह ने भवन को ठेकेदार से हैण्डओवर भी ले लिया है। जल्द ही इस भवन में नगर पालिका परिषद अकलतरा का संचालन होगा। भवन को संवारने सहित अन्य सुविधाओं के लिए नगर पालिका परिषद की अध्यक्ष शांति भारते और गणमान्य नागरिकों ने कलेक्टर का अभिवादन भी किया। जांजगीर-चाम्पा जिले में किसी अन्य नगर पालिका परिषद का ऐसा शानदार भवन नहीं है।

Leave a Comment

Advertisement
What does "money" mean to you?
  • Add your answer
Advertisement
error: Content is protected !!