डॉ. भीमराव अम्बेडकर शासकीय महाविद्यालय पामगढ़ की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई का सात दिवसीय विशेष शिविर का हुआ खरखोद ग्राम में आयोजन

पामगढ़।   

Advertisement
डॉ. भीमराव अम्बेडकर शासकीय महाविद्यालय पामगढ़ की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई का 07 दिवसीय विशेष शिविर ग्राम खरखोद में आयोजित किया गया। इस विशेष शिविर का समापन माननीय श्रीमती इंदू बंजारे विधायक पामगढ़ के मुख्यआतिथ्य व प्राचार्य प्रो. जे. पी. साहू की अध्यक्षता में सम्पन्न हुआ। मुख्य अतिथि  इंदू बंजारे विधायक पामगढ़ ने उदबोधन व्यक्त करते हुए कहा की छात्र / छात्राओं को जीवन के हरक्षेत्र में आगे बढ़ने के लिए शिक्षा ही एक मात्र साधन है। बताया गया और महिला शिक्षा पर जोर देते हुए उनके हरक्षेत्र में विकास पर जोर दिया जाना आवश्यक बताया गया तथा साथ ही माननीय विधायक जी के द्वारा सभी शिविरार्थियों को शिक्षा के लिए प्रोत्साहन देने हेतु एक कॉपी एवं एक कलम, देकर उनका उत्साहवर्धन किया गया।

शिविर के इन सात दिवसों में शिविरार्थियों के द्वारा गाँव के स्कूल परिसर, हेण्डपंपों के परिसर, गली, तथा, गौठान परिसर में जाकर स्वच्छता अभियान चलाकर साफ-सफाई की गयी तथा बौद्धिक कार्यक्रम के अंतर्गत मिलावटी खाद्ययपदार्थों के दूषप्रभावो एवं परिणामो, बेटी बचावा बेटी पढ़ावा, महिला सशक्तीकरण, छात्रजीवन में समय प्रबंधन चरित्र निमार्ण में रा.यो.यो. की भूमिका डिजीटल इंडिया, आजादी का अमृत महोत्सव, योगदर्शन इत्यादि विषयों पर प्रमुख रूप से सार्थक चर्चा की गयी। इस कार्यक्रम में महाविद्यालय के डॉ. एस. के. त्रिपाठी, डॉ.तारणीष गौतम् डॉ. आशीष तिवारी, प्रो. मीरा टण्डन, प्रो. चाँदनी छाबडा, प्रो. संतोषी उरांव, प्रो. आर. एस. विश्वकर्मा, प्रो. दुर्गेश्वरी पटेल प्रो आलोक चतुर्वेदी, .विजय लहरे, एवं, कु. रेणुका वर्मा  शरद श्रीवास का सहयोग एवं मार्गदर्शन प्राप्त हुआ। एवं महाविद्यालय के कम्प्यूटर आपरेटर  ओ. पी. खन्ना के द्वारा सास्कृति कार्यक्रम का Youtube Channel एवं Facebook के माध्यम से लाईव प्रसारित किया गया। ग्राम खरखोद के उपसरपंच  सुनील खुंटे, समस्त पंचगण एवं गणमान्य नागरिको का व हाईस्कूल खरखोद के प्राचार्य  आर.एस पैकरा तथा समस्त शिक्षको का शिविर में सहयोग प्राप्त हुआ ।

रात्रि में सास्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन नशापान, अंधविश्वास, दहेज प्रथा, स्वच्छता, वृक्षारोपण, व कर नरवा,गरूवा,घुरूवा अरू बारी के संबंध में शिविरार्थियों द्वारा नाटक गीत एवं नृत्य के द्वारा ग्रामवासियों को संदेश देकर प्रेरित किया गया। जिनमें प्रमुख रूप से  सोमेश श्रीवास ( महादल नायक), डी. पी. लहराता (दलनायक), जानी बंजारे (दलनायक), यशपाल टण्डन (दलनायक) साहिल बंजार (दलनायक) कबीर बेदी, सुखीराम उत्तम पटेल, नागेश्वर विक्रम,गुलशन,महेन्द्रसाहू, इंद्रा, कु. ममता, पुष्पा, करीना, नेहा, छाया, राखी, पूजा, शालू, सतरूपा, प्रीति, केशर, वर्षा, व का अन्नू, राखी, योगदान सराहनीय रहा। कार्यक्रम का सफलता पूर्वक संचालन डॉ. एस. आर. महेन्द्र कार्यक्रम अधिकारी रा.से.यो. द्वारा किया गया।

Leave a Comment

Advertisement
What does "money" mean to you?
  • Add your answer
error: Content is protected !!